Thodi Sargam - Thoda Gana...

बुनता सा एक ताना बाना,
थोडी है सरगम थोडा है गाना.
किसी अपने का परिवार में आना ,
और किसी का घर से जाना..
ऐसे - जैसे गुनगना..
जैसे पीली सरसों लह लहाना..
जैसे वीणा का कानो में बजना..
जैसे कुछ सपनो को जीना..
 
कभी थोडा बुदबुदाना..
कभी खुल के खिल खिलाना..
राम का नाम जपते जाना..
कुछ सवालो को बुनते जाना..
कुछ उत्तर मिलते जाना..
एक नया आबू दाना बनते जाना..
उधेड़ बुन का यह बाना ताना..
थोडी है सरगम थोडा है गाना.

-Ud..it

Comments

  1. :-) this is something I wanted from u Chho... :-) :-)

    ReplyDelete
  2. amazing stuff, Udit...!!!
    I didn't know that you write so well...keep it up dear...

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

Patang Si Zindagi....

bus yun hi..

Muskaati aankhen...